Arvind Kejriwal Government Asked For Army Help Amid Corona Worst Situation Written Letter To Rajnath – दिल्ली : बिगड़ते हालात के बीच केजरीवाल सरकार ने मांगी सेना की मदद, राजनाथ को लिखी चिट्ठी

Arvind Kejriwal Government Asked For Army Help Amid Corona Worst Situation Written Letter To Rajnath – दिल्ली : बिगड़ते हालात के बीच केजरीवाल सरकार ने मांगी सेना की मदद, राजनाथ को लिखी चिट्ठी


अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली
Published by: सुशील कुमार कुमार
Updated Mon, 03 May 2021 12:47 PM IST

सार

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि उन्होंने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर सेना की मदद मांगी है। पत्र में उन्होंने लिखा कि डीआरडीओ ने जिस तरह एक अस्पताल तैयार किया है, उसी तरह और अस्पताल तैयार किए जाएं।

ख़बर सुनें

दिल्ली में कोरोना की चौथी लहर से हालात लगातार बिगड़ती जा रही है। मरीजों की मौतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। इस बीच संक्रमण पर काबू और मरीजों की जान बचाने के लिए दिल्ली सरकार ने सेना की मदद मांगी है। 

तीसरे चरण के टीकाकरण अभियान के पहले दिन सोमवार को केंद्र पर पहुंचे उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि उन्होंने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर सेना की मदद मांगी है। पत्र में उन्होंने लिखा कि डीआरडीओ ने जिस तरह एक अस्पताल तैयार किया है, उसी तरह और अस्पताल तैयार किए जाएं। साथ ही उपमुख्यमंत्री ने पत्र लिखकर ऑक्सीजन सिलेंडर से लेकर बाकी अन्य तमाम व्यवस्थाओं के लिए भी भारतीय सेना की मदद मांगी है।

मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली के 76 स्कूलों में वैक्सीनेशन शुरू हो गया है। इसके साथ 301 केंद्रों पर भी टीकाकरण शुरू हो गया है। उन्होंने बताया कि दिल्ली के एक स्कूल में दस केंद्र बनाए जाएंगे। एक मई को हमें 4.5 लाख खुराकें मिली थीं। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि दिल्ली में 100 फीसदी लोगों को वैक्सीन लगे। 

वहीं, होम आइसोलेशन को लेकर नई रणनीति बनाने पर आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और मुख्य सचिव भी मौजूद रहेंगे।

पिछले दिनों हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को फटकार लगाते हुए कहा था कि आपने कोरोना से निपटने के लिए सेना की मदद क्यों नहीं ली? सेना के पास काम करने का अपना तरीका है। उसके पास अपना इंफ्रास्ट्रक्चर है। जब आप स्थिति संभालने में नाकाम रहे तो सेना की मदद आखिर क्यों नहीं ली? जिसके बाद दिल्ली सरकार की ओर से पेश वकील ने बताया कि हम इस प्रक्रिया में अग्रसर हैं। 

विस्तार

दिल्ली में कोरोना की चौथी लहर से हालात लगातार बिगड़ती जा रही है। मरीजों की मौतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। इस बीच संक्रमण पर काबू और मरीजों की जान बचाने के लिए दिल्ली सरकार ने सेना की मदद मांगी है। 

तीसरे चरण के टीकाकरण अभियान के पहले दिन सोमवार को केंद्र पर पहुंचे उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि उन्होंने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर सेना की मदद मांगी है। पत्र में उन्होंने लिखा कि डीआरडीओ ने जिस तरह एक अस्पताल तैयार किया है, उसी तरह और अस्पताल तैयार किए जाएं। साथ ही उपमुख्यमंत्री ने पत्र लिखकर ऑक्सीजन सिलेंडर से लेकर बाकी अन्य तमाम व्यवस्थाओं के लिए भी भारतीय सेना की मदद मांगी है।

मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली के 76 स्कूलों में वैक्सीनेशन शुरू हो गया है। इसके साथ 301 केंद्रों पर भी टीकाकरण शुरू हो गया है। उन्होंने बताया कि दिल्ली के एक स्कूल में दस केंद्र बनाए जाएंगे। एक मई को हमें 4.5 लाख खुराकें मिली थीं। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि दिल्ली में 100 फीसदी लोगों को वैक्सीन लगे। 

वहीं, होम आइसोलेशन को लेकर नई रणनीति बनाने पर आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और मुख्य सचिव भी मौजूद रहेंगे।

पिछले दिनों हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को फटकार लगाते हुए कहा था कि आपने कोरोना से निपटने के लिए सेना की मदद क्यों नहीं ली? सेना के पास काम करने का अपना तरीका है। उसके पास अपना इंफ्रास्ट्रक्चर है। जब आप स्थिति संभालने में नाकाम रहे तो सेना की मदद आखिर क्यों नहीं ली? जिसके बाद दिल्ली सरकार की ओर से पेश वकील ने बताया कि हम इस प्रक्रिया में अग्रसर हैं। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *